हमीरपुर : स.वि.म.इ.का.में क्षेत्रीय संगठन मंत्री जी ने अटल टिंकरिंग लैब का किया गया उद्घाटन

हमीरपुर : स.वि.म.इ.का.में क्षेत्रीय संगठन मंत्री जी ने अटल टिंकरिंग लैब का किया गया उद्घाटन
हमीरपुर। सरस्वती विद्या मंदिर इण्टर कॉलेज में केन्द्र सरकार द्वारा सहायता प्राप्त अत्याधुनिक अटल टिंकरिंग लैब का उद्घाटन विद्या भारती के क्षेत्रीय संगठन मंत्री श्री हेमचन्द्र जी ने वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ पुरोहित श्री बृज किशोर पाण्डेय जी के नेतृत्व में किया। इस अवसर पर उन्होने  कहा कि यह लैब प्रमुख रुप से इलेक्ट्रानिक, रोबोटिक, साइन्स, टेक्नालोजी, इंजीनियरिंग, गणित पर आधारित है। हम इन प्रयोगशालाओ में नवाचार के माध्यम से भारत को विश्व गुरु के शिखर तक ले जाने मे कामयाब होंगे।
हमारी विद्या भारती का यही संकल्प है। उन्होने यह भी कहा कि संस्कारो से व्यक्ति इंसान बन सकता है तथा सामान्य व्यक्ति मानव से महामानव बन सकता है। आज हमारे समाज में अनेको प्रकार की समस्यायें है जिन्हे हम कैसे हल करे ,इसी खोज और शोध को करने के लिये ए.टी.एल की स्थापना की गयी है। कार्यक्रम की शुरुआत माँ सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्ज्वलन व पुष्पार्चन के साथ हुयी। तत्पश्चात मुख्य अतिथि व अध्यक्ष को बैज अलंकरण व अंगवस्त्र तथा श्रीफल भेट किया गया। अतिथि परिचय एवं कार्यक्रम की प्रस्ताविकी विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री रमेशचन्द्र जी ने प्रस्तुत की। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विद्या भारती के अध्यक्ष डॉ० राकेश कुमार निरंजन ने बोलते हुए कहा कि बच्चो के मन मे विज्ञान के प्रति रुचि जाग्रत हो तथा उनकी प्रतिभा को कैसे निखारा जाये, इस लैब के माध्यम से भारत को हम आत्मनिर्भर बना सकते है। इस कार्यक्रम मे विद्या भारती के प्रदेश निरीक्षक श्री आत्मानन्द सिंह एवं जनशिक्षा के प्रदेश निरीक्षक श्री धीरेन्द्र सिंह जी उपस्थित रहे। इस अवसर पर विद्यालय के प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष प्रेम नारायण पुरवार व कोषाध्यक्ष श्री शिवशंकर सिंह तथा सदस्य श्री चन्द्र शेखर सचान व अयोध्या प्रसाद तथा संस्थापक सदस्य श्री अमर सिंह, श्री राजकुमार सचान आदि उपस्थित रहे । इस विद्यालय के पूर्व प्रधानाचार्य श्री शारदादीन यादव, श्री जितेन्द्र कुमार पाण्डेय व प्रधानाचार्य कुरारा व कर्वी के प्रधानाचार्य श्री रामप्रकाश गुप्ता सहित नगर के अनेको गणमान्य एवं विशिष्ट व्यक्ति उपस्थित रहे। आभार प्रदर्शन विद्यालय के प्रबन्धक श्री आर.के सिंह ने किया। कार्यक्रम का संचालन माधव भवन प्रभारी आचार्य बलराम सिंह जी ने किया।