जालौन : स.शि.वि.मं.इं.कॉ.राजेंद्र नगर उरई में मनाया गया राष्ट्र कवि मैथिलीशरण गुप्त का जन्मदिवस

जालौन : स.शि.वि.मं.इं.कॉ.राजेंद्र नगर उरई में मनाया गया राष्ट्र कवि मैथिलीशरण गुप्त का जन्मदिवस
जालौन । सरस्वती शिशु विद्या मंदिर इंटर कॉलेज, राजेंद्र नगर, उरई में दिनांक 3 अगस्त, मंगलवार को राष्ट्र कवि मैथिलीशरण गुप्त का जन्मदिवस  मनाया गया। इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य जी ने उनके जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हिन्दी साहित्य में गद्य को चरम तक पहुचाने में जहां प्रेमचंद्र का विशेष योगदान माना जाता है वहीं पद्य और कविता में राष्ट्र कवि मैथिलीशरण गुप्त को सबसे आगे माना जाता है। अपनी कविताओं से मैथिलीशरण गुप्त ने कविता के क्षेत्र में अतुल्य सहयोग दिया है। मैथिलीशरण गुप्त खड़ी बोली के प्रथम महत्त्वपूर्ण कवि हैं। श्री पं. महावीर प्रसाद द्विवेदी जी की प्रेरणा से आपने खड़ी बोली को अपनी रचनाओं का माध्यम बनाया और अपनी कविता के द्वारा खड़ी बोली को एक काव्य-भाषा के रूप में निर्मित करने में अथक प्रयास किया।