गोरखपुर : स. शि. मं. पक्कीबाग में मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव

गोरखपुर : स. शि. मं. पक्कीबाग में मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव
गोरखपुर : स. शि. मं. पक्कीबाग में मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव
गोरखपुर : स. शि. मं. पक्कीबाग में मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव
गोरखपुर : स. शि. मं. पक्कीबाग में मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव
गोरखपुर : स. शि. मं. पक्कीबाग में मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव
गोरखपुर : स. शि. मं. पक्कीबाग में मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव
गोरखपुर : स. शि. मं. पक्कीबाग में मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव
गोरखपुर : स. शि. मं. पक्कीबाग में मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव
गोरखपुर : स. शि. मं. पक्कीबाग में मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव
गोरखपुर : स. शि. मं. पक्कीबाग में मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव
गोरखपुर : स. शि. मं. पक्कीबाग में मनाया गया रक्षाबंधन उत्सव

गोरखपुर। सरस्वती शिशु मंदिर (10+2) पक्कीबाग में दिनांक 21/08 /2021 को रक्षाबंधन के पूर्व संध्या पर वन्दना सभा में बड़े ही धूमधाम से रक्षाबंधन का उत्सव मनाया गया। कार्यक्रम के प्रारम्भ में विद्यालय की वरिष्ठ आचार्या एवं मुख्य वक्ता श्रीमती सुधा त्रिपाठी जी ने रक्षाबंधन पर्व पर प्रकाश डालते हुए बताया, कि रक्षाबंधन का पर्व श्रावण मास की पूर्णिमा तिथि को प्राचीन काल से ही मनाया जाता रहा है। 

उन्होंने पौराणिक कथाओं के माध्यम से रक्षाबंधन के पर्व के प्रारंभ व महत्ता पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि किस प्रकार से भगवान वामन ने राजा बलि की परीक्षा लेने का प्रयास किया। फिर भी राजा बलि हर अग्नि परीक्षा में सफल हुए। उन्होंने महाभारत के प्रसंग का उदाहरण देते हुए बताया कि द्रोपदी ने भगवान श्रीकृष्ण की कटी हुई उंगली पर किस प्रकार से पट्टी बांधी तब से रक्षाबंधन का पर्व मनाया जाता है। मुगल काल में हुमायूँ ने बहन पद्मावती कि किस प्रकार से रक्षा की इस कहानी पर भी उन्होंने प्रकाश डाला।

विद्यालय के प्रधानाचार्य डॉ राजेश सिंह जी ने समस्त विद्यालय परिवार को रक्षाबंधन की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यह भैया बहनों का पवित्र त्यौहार है। इसमें भैया बहन की रक्षा करने का व्रत लेते हैं ठीक उसी प्रकार से अपने देश समाज, राष्ट्र, संस्कृति, पर्यावरण की रक्षा करने की आवश्यकता है। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती रुकमणी उपाध्याय जी ने किया, इस अवसर पर विद्यालय के उप प्रधानाचार्य संजय श्रीवास्तव जी, शिशु वाटिका प्रमुख श्रीमती मीरा श्रीवास्तव जी सहित समस्त विद्यालय परिवार उपस्थित था। इस अवसर पर विद्यालय की बहनों ने भाइयों को राखी बाँधी साथ ही प्रधानाचार्य जी को भी राखी बाँधी एवं मिष्ठान खिलायी।