गोरखपुर : स. शि. मं. व. मा. वि. सुभाषचन्द्र बोस नगर, सूर्यकुण्ड में छात्रों का आशीर्वाद समारोह सम्पन्न

गोरखपुर : स. शि. मं. व. मा. वि. सुभाषचन्द्र बोस नगर, सूर्यकुण्ड में छात्रों का आशीर्वाद समारोह सम्पन्न

गोरखपुर। सरस्वती शिशु मन्दिर वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, सुभाषचन्द्र बोस नगर, सूर्यकुण्ड में आज बोर्ड परीक्षा में सम्मिलित होने वाले कक्षा द्वादश के छात्राओं का आशीर्वाद समारोह सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम का शुभारम्भ अतिथियों द्वारा माँ सरस्वती के चित्र पर पुष्पार्चन एवं दीप प्रज्ज्वलन द्वारा किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि सेन्टेण्ड्यूज कालेज के गणित विभाग के पूर्व अध्यक्ष डॉ. बी. एन. प्रसाद ने कहा कि इस विद्यालय के गुरुजनां द्वारा दिये गये संस्कार, मूल्य और सुझाव आपके लिए सदैव उपयोगी रहेंगे। आप जहाँ भी जायें आपको अपने मातृभूमि को नहीं भूलना चाहिए। 

मुख्य अतिथि जी ने आगे कहा कि जीवन का लक्ष्य धन प्राप्त करना नहीं होना चाहिए, बल्कि समाज के प्रति अपने जिम्मेदारियों का सम्यक् निवर्हन करते हुए देश हित में अपनी उपयोगिता सिद्ध करने का सतत् प्रयास करना चाहिए। अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में विद्यालय के मंत्री सुरेन्द्र नाथ तिवारी ने कहा कि छात्रों को अपना लक्ष्य निर्धाण कर उसे प्राप्त करने हेतु सतत प्रयत्नशील रहना चाहिए। छात्रां को लक्ष्य निर्धारण में अपने कमजोर व मजबूत पक्ष का ज्ञान अवश्य होना चाहिए, तभी वह अपने लक्ष्य को तय समय सीमा के भीतर प्राप्त कर सकेगें। इस अवसर पर प्रधानाचार्य राजबिहारी विश्वकर्मा ने छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि इस विद्यालय के आचार्यां ने आपको जो ज्ञान प्रदान किया है, यहाँ से जाने के पश्चात् उसका प्रदर्शन समाज में अवश्य होना चाहिए। आप जहाँ भी जायें अपने संस्कार एवं आचरण से दूसरां को प्रभावित करें। उन्हांने कहा कि पवित्र भाव, सकारात्मक दृष्टिकोण व कठिन परिश्रम से प्राप्त किये गये लक्ष्य द्वारा आप समाज व राष्ट्र का अधिकाधिक हित कर सकते हैं।
  
इस अवसर पर विद्यालय के उप-प्राचार्य रमेश सिंह ने अभ्यागतां का स्वागत करते हुए परिचय कराया। कक्षा-एकादश के छात्रों की ओर से भैया रूद्र दूबे ने अभिनन्दन पत्र व कक्षा- द्वादश के छात्रों की ओर से भैया दिवाकर निषाद ने आश्वासन पत्र पढ़ा। आचार्य परिवार की ओर से आचार्य डॉ. राजेश कुमार श्रीवास्तव ने छात्रों का मार्गदर्शन किया। कार्यक्रम का संचालन व्यास कुमार श्रीवास्तव व भैया उद्यांश पाण्डेय तथा डॉ. बजरंगी झा ने अभ्यागतां के प्रति आभार ज्ञापित किया। सरस्वती वन्दना से प्रारम्भ हुए कार्यक्रम का समापन कल्याण मंत्र से हुआ।