मऊ : मुन्नी देवी स. उ. मा. वि. बड़ा पोखरा में भगिनी निवेदिता की पुण्यतिथि पर अर्पित की गई श्रद्धांजलि

मऊ : मुन्नी देवी स. उ. मा. वि. बड़ा पोखरा में भगिनी निवेदिता की पुण्यतिथि पर अर्पित की गई श्रद्धांजलि
मऊ। मुन्नी देवी सरस्वती उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बड़ा पोखरा में दिनांक 13 अक्टूबर भगिनी निवेदिता की पुण्यतिथि मनाई गई। विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री रामजन्म यादव ने सहित समस्त विद्यालय परिवार ने भगिनी निवेदिता को श्रद्धांजलि अर्पित की। बता दें कि भगिनी निवेदिता (१८६७-१९११) का मूल नाम 'मार्गरेट एलिजाबेथ नोबेल' था। वे एक अंग्रेज-आइरिश सामाजिक कार्यकर्ता, लेखक, शिक्षक एवं स्वामी विवेकानन्द की शिष्या थीं।

भारत में आज भी जिन विदेशियों पर गर्व किया जाता है उनमें भगिनी निवेदिता का नाम पहली पंक्ति में आता है, जिन्होंने न केवल भारत की आजादी की लड़ाई लड़ने वाले देशभक्तों की खुलेआम मदद की बल्कि महिला शिक्षा के क्षेत्र में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया। भगिनी निवेदिता का भारत से परिचय स्वामी विवेकानन्द के जरिए हुआ। स्वामी विवेकानन्द के आकर्षक व्यक्तित्व, निरहंकारी स्वभाव और भाषण शैली से वह इतना प्रभावित हुईं कि उन्होंने न केवल रामकृष्ण परमहंस के इस महान शिष्य को अपना आध्यात्मिक गुरु बना लिया बल्कि भारत को अपनी कर्मभूमि भी बनाया। 13 अक्टूबर 1911 को दार्जिलिंग (पं. बंगाल) उनका स्वर्गवास हो गया।