​संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले जी ने दी संस्कार भारती के राष्ट्रीय महामंत्री अमीरचंद जी को श्रद्धांजलि

​संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले जी ने दी संस्कार भारती के राष्ट्रीय महामंत्री अमीरचंद जी को श्रद्धांजलि
बलिया। संस्कार भारती के अखिल भारतीय महामंत्री अमीरचंद के अंतिम दर्शन के लिए बलिया में उनके पैतृक गांव आरएसएस के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले और पद्मश्री मालिनी अवस्थी पहुंचीं। 

अमीरचंद की शवयात्रा से पहले उनके पार्थिव शरीर को हनुमानगंज स्थित उनके भाई ताराचंद के आवास पर रखा गया। जहां सोमवार सुबह से जिले से लेकर देशभर से आम और खास अंतिम दर्शन करने पहुंचने लगा। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने हनुमानगंज पहुंचकर अमीरचंद के पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित किया। उन्होंने परिजनों को ढांढस बंधाया। उन्होंने श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि कला और संस्कृति के देश के सबसे बड़े सेवक का निधन हुआ है। इनकी रिक्तता को भरा नहीं जा सकता। अमीरचंद जी की शवयात्रा लगभग 11 बजे उनके पैतृक आवास से चली। शहर में पहुंचते-पहुंचते उनके पार्थिव शरीर को लेकर चल रही गाड़ी के पीछे वाहनों की लंबी कतार लग गई। 

संस्कार भारतीय के अखिल भारतीय महामंत्री अमीर चंद जी का शनिवार देर शाम 7:26 पर अरुणाचल अरुणाचल प्रदेश में निधन हुआ था l हनुमानगंज में जन्मे अमीर चंद जी 1981 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक बने 1985 में आजमगढ़ में संघ के तहसील प्रचारक बने तत्पश्चात 1987 में संस्कार भारती में पूर्वी उत्तर प्रदेश क्षेत्र की जिम्मेदारी मिली उसके बाद से ही संस्कार भारती के विभिन्न दायित्व पर रहते हुए वर्तमान में अखिल भारतीय महामंत्री की जिम्मेदारी का निर्वहन कर रहे थे वर्तमान में उनका केंद्र दिल्ली था, अनेक वर्षों तक पूर्वांचल भारत में रहकर संस्कार भारती के कार्य विस्तार में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी, पूर्वोत्तर भारत की यात्रा में ही उन्होंने अंतिम सांस ली l 

शवयात्रा में दत्तात्रेय होसबोले और मालिनी अवस्थी भी चल रही थीं। संस्कार भारती के अखिल भारतीय संगठन मंत्री अभिजीत गोखले, पूर्वी उत्तर प्रदेश के क्षेत्र प्रचारक अनिल, गोरक्ष प्रांत के प्रांत प्रचारक सुभाष, सह प्रान्त प्रचारक अजय, विनय, भाजपा जिलाध्यक्ष जयप्रकाश साहू और गोरक्ष प्रान्त के विभाग, जिला और नगर कार्यकारिणी के सभी पदाधिकारी शवयात्रा के साथ शामिल हैं। अंतिम संस्कार के लिए गंगा के महावीर घाट पर तैयारियां की गई हैं। जहां अमीरचंद के भाई ताराचंद के पुत्र मुखाग्नि देंगे।