​अमेठी: सरयू देवी SSMIC केशव नगर में मनाई गई महान क्रिकेटर रणजीत सिंह की पुण्यति​थि

​अमेठी:  सरयू देवी SSMIC केशव नगर में मनाई गई महान क्रिकेटर रणजीत सिंह की पुण्यति​थि
​अमेठी:  सरयू देवी SSMIC केशव नगर में मनाई गई महान क्रिकेटर रणजीत सिंह की पुण्यति​थि
अमेठी। सरयू देवी सरस्वती शिशु मंदिर इण्टर कालेज केशव नगर अमेठी में महान क्रिकेटर रणजीत सिंह की पुण्यतिथि मनाई गई। रणजीत सिंह का जन्म गुजरात राज्य के जामनगर के पास सरदार गांव में 10 सितम्बर 1872 को हुआ था। स्कूली शिक्षा के दौरान ही रणजीत सिंह को क्रिकेट से काफी लगाव था। जब साल 1888 में रणजीत सिंह शिक्षा प्राप्त करने के लिए इंग्लैंड चले गये, इंग्लैंड में उन्हें त्रिनित्री कॉलेज की क्रिकेट टीम ने साल 1892 शामिल कर लिया उस समय इंग्लिश क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष लार्ड हैरिस ने रणजीत सिंह ये कहकर टीम में जगह नहीं दे रहे थे की वो एक भारतीय है। लेकिन  इंग्लैंड के क्रिकेट प्रेमियों ने ऐसा नहीं होने दिया जब रणजीत सिंह को ऑस्ट्रेलिया से होने वाले मैच के लिए लॉर्ड्स की इंग्लैंड टीम में  शामिल नहीं किया गया। लेकिन दूसरी बार रणजीत सिंह को इंग्लैंड टीम में दूसरे टेस्ट मैच के लिए टीम में शामिल किया गया।इस टेस्ट मैच में रणजीत सिंह ने शानदार खेल दिखाते हुए 62 रन की पारी खेली और दूसरी पारी में तो रणजीत सिंह ने कमाल कर दिया और 154 रनो की शानदार पारी खेली । इस टेस्ट में में कुल 216 रन का योगदान दे कर अपना शानदार खेल दिखाया । उस मैच के बाद कई बड़े क्रिकेटरों ने उनकी इस पारी के तारीफों के पुल बांधे लेकिन दोस्तों शानदार पारी के बाद भी रणजीत सिंह खुश नहीं थे क्योकि उस मैच में इंग्लैंड की टीम को हार का सामना करना पड़ा था। रणजीत सिंह ने साल 1896 में 10 शतक के साथ 2780 रन बनाकर "सर डब्ल्यूजी ग्रेस" का 25 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया था ।