लखीमपुर : सनातन धर्म स.शि.म. मिश्राना में मनाई गई माधवराव परलकर की पुण्यतिथि

लखीमपुर : सनातन धर्म स.शि.म. मिश्राना में मनाई गई माधवराव परलकर की पुण्यतिथि
लखीमपुर । विद्या भारती विद्यालय सनातन धर्म सरस्वती शिशु मंदिर मिश्राना में माधवराव परलकर की पुण्यतिथि मनाई गई। इस मौके पर प्रधानाचार्य जी ने उनके बारे में बताया कि सेवा का क्षेत्र बहुत व्यापक है। जिस व्यक्ति पर कष्ट पड़ता है, उसकी सेवा तो पुण्य है ही, पर उनके सम्बन्धियों के कष्ट भी कम नहीं होते, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता जनजीवन से जुड़े होते हैं। उन्होंने ऐसे रोगियों और उनके परिचारकों के लिए अनेक सेवा केन्द्रों की स्थापना की है। इनमें मुम्बई का ‘नाना पालकर रुग्ण सेवा केन्द्र’ भी एक है। इसके प्राण थे संघ के वरिष्ठ प्रचारक माधवराव परलकर। माधवराव अपने बाल्यकाल से ही संघ की शाखा से जुड़ गए थे। उन्होंने 1947 में ‘आयुर्वेद प्रवीण’ की उपाधि ली। तब वे चाहते तो कहीं नौकरी या चिकित्सालय खोल सकते थे,पर वे संघ के प्रचारक के नाते अपना जीवन बिताने का निश्चय कर चुके थे। उन्हें मुम्बई में बान्द्रा से विरार और फिर चेम्बूर तक का क्षेत्र शाखाओं के विस्तार के लिए सौंपा गया। माधवराव ने अपनी साइकिल पर अनेक नयी शाखाएँ खोलीं। उनके मधुर व्यवहार और परिश्रम से प्रभावित होकर सैकड़ों नये कार्यकर्ता संघ से जुड़े ।