लखीमपुर: सनातन धर्म सरस्वती शिशु मंदिर मिश्राना में अमर गोस्वामी जी को किया गया नमन

लखीमपुर: सनातन धर्म सरस्वती शिशु मंदिर मिश्राना में अमर गोस्वामी जी को किया गया नमन
लखीमपुर। सनातन धर्म सरस्वती शिशु मंदिर मिश्राना में अमर गोस्वामी जी की पुण्यतिथि मनाई गई। मनोरमा’ और ‘गंगा’ जैसी देश की प्रतिष्ठित पत्रिकाओं से लंबे समय तक जुड़े रहे हिन्दी के प्रसिद्ध साहित्यकार तथा उपन्यासकार अमर गोस्वामी की पुण्यतिथि है, उनकी मृत्यु 28 जून, 2012 को गाज़ियाबाद में हुई थी । अमर गोस्वामी साहत्यिक संस्था ‘वैचारिकी’ के संस्थापक भी रहे । उन्होंने कई साहित्यिक पत्रिकाओं का संपादन भी किया था। अमर गोस्वामी का जन्म 28 नवम्बर, 1945 को एक बांग्ला भाषी ब्राह्मण परिवार में मुल्तान (विभाजित भारत) में हुआ था। मुल्तान वर्तमान समय में अब पाकिस्तान का हिस्सा है। जब अमर गोस्वामी मात्र दो वर्ष के थे, तभी उनका परिवार देश के बंटवारे के दौरान मुल्तान से उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर नगर में आकर बस गया था। अपनी शिक्षा के तहत अमर गोस्वामी ने ‘इलाहाबाद विश्वविद्यालय’ से हिन्दी विषय के साथ स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की थी। अमर गोस्वामी ने एक प्राध्यापक के रूप में शिक्षा के क्षेत्र में भी अपना योगदान दिया था। महिलाओं की बहुचर्चित पत्रिका ‘मनोरमा’ में उन्होंने बतौर उप-संपादक अपनी सेवाएँ प्रदान की थीं। उन दिनों कथाकार अमरकांत इस पत्रिका के संपादक थे। ‘मनोरमा’ में लगभग 6 वर्ष तक काम करने के बाद अमर गोस्वामी दिल्ली चले गए।