इटावा : सरस्वती इंटर कॉलेज मोतीझील में मनाई गई कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद जी की जयंती

इटावा : सरस्वती इंटर कॉलेज मोतीझील में मनाई गई कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद जी की जयंती
इटावा। सरस्वती इंटर कॉलेज मोतीझील में आज दिनांक 31 जुलाई 2021 को हिंदी कथा उपन्यास के सबसे सशक्त स्तंभ मुंशी प्रेमचंद जी का जन्म दिवस मनाया गया। मां शारदे की वंदना के उपरांत अपने उद्बोधन में विद्यालय के वरिष्ठ आचार्य श्री विष्णु पाठक जी ने कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद जी के बारे में बताया कि साहित्य समाज का दर्पण है व साहित्यकारों ने सदैव समाज की संवेदनाओं को जन-जन तक पहुँचाया है। ऐसे ही मध्यम व निम्न वर्ग की आवाज़ को शब्द प्रदान करने वाले अद्वितीय लेखक, कुशल वक्ता, उपन्यास सम्राट के नाम से विख्यात श्री मुंशी प्रेमचंद जी की जयंती पर हम सभी यहां पर एकत्र हुए हैं। 

विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री भारत सिंह जी ने कहा कि सर्वप्रथम हम सभी हिंदी कहानी के सम्राट को जन्मदिन पर सादर नमन करते हैं। प्रेमचंद जी ने सौ वर्षों पहले जो लिखा था वो आज तक जीवित है, और परिस्थितियां आज भी वही की वही है। आज भी सृष्टि वरदान देती हैं,रंगभूमि पर कर्मभूमि का शंखनाद होता हैं। आज भी नमक का दरोगा रिश्वत का बहिष्कार करता है, आज भी निर्मला मंगलसूत्र और आभूषण पहनती हैं, इस पंच परमेश्वर ( प्रेमचंद) लेखक की प्रेरणा हमें आज भी जीवित किए हुए हैं। इनके प्रेम मंजुसा , मानसरोवर में सेवासदन का अनुभव गुल्ली डंडा खेलती हुई, पशु से मनुष्य जैसा कायाकल्प की मनोवृति देती हैं। कार्यक्रम में सभी आचार्य बंधु उपस्थित रहे कार्यक्रम का समापन कल्याण मंत्र के साथ में हुआ।