सिद्धार्थनगर : रघुवर प्रसाद जायसवाल स. शि. मं. इं. कॉ. तेतरी बाजार में मनाई गई मेजर ध्यानचंद जी की जयंती

सिद्धार्थनगर : रघुवर प्रसाद जायसवाल स. शि. मं. इं. कॉ. तेतरी बाजार में मनाई गई मेजर ध्यानचंद जी की जयंती
सिद्धार्थनगर। अपने हॉकी के कैरियर अंग्रेजो के खिलाफ एक हजार से अधिक गोल दागने वाले मेजर ध्यानचंद ने वर्लिन जैसी दुनिया की सर्वश्रेष्ठ हॉकी टीम को 8-1 से ओलंपिक में हराकर हिटलर जैसे तानाशाह को अपना मुरीद बना लिया था। यही पहला अवसर था जब हिटलर ने उनसे प्रभावित होकर उन्हें "हॉकी का जादूगर" कह कर पुकारा था। उक्त बातें विद्यालय के शारीरिक प्रमुख आचार्य श्री राजेश कुमार सिंह जी ने कही। वह अपने विद्यालय रघुवर प्रसाद जायसवाल सरस्वती शिशु मंदिर इंटर कॉलेज तेतरी बाजार में मेजर ध्यानचंद की जयंती के पूर्व संध्या पर आयोजित कार्यक्रम के बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। 

शारीरिक प्रमुख आचार्य जी ने आगे कहा कि भारत की आजादी से पूर्व हुए ओलंपिक खेल में सर्वश्रेष्ठ हाकी टीम जर्मनी को 8-1 से हराने के बाद जर्मन तानाशाह हिटलर ने मेजर ध्यानचंद को अपनी सेना में उच्च पद पर आसीन होने का प्रस्ताव दिया था लेकिन तब हिटलर के इस प्रस्ताव को ठुकरा कर मेजर ध्यानचंद ने भारत और भारतीयों की सीना को सदा- सदा के लिए चौड़ा कर दिया। इसके पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ मेजर ध्यानचंद जी के चित्र पर पुष्पार्चन व माल्यार्पण कर किया गया। कार्यक्रम के अंत में कॉमर्स विषय के प्रवक्ता श्री अखंड प्रताप सिंह ने सभी के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन श्री दिलीप श्रीवास्तव ने किया। उक्त अवसर पर श्री व्यंकटेश्वर चंद्र मिश्र, विवेक कुमार सिंह , दिग्विजय नाथ मिश्र तथा कृष्ण नाथ पांडेय समेत समस्त भैया बहनों व आचार्य बंधुओं की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।