झांसी : महाराजा अग्रसेन स.वि.मं.इं.कॉ.में मनाया गया रामनरेश त्रिपाठी जी का जन्मदिवस

झांसी : महाराजा अग्रसेन स.वि.मं.इं.कॉ.में मनाया गया रामनरेश त्रिपाठी जी का जन्मदिवस
झांसी । महाराजा अग्रसेन सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज में 4 मार्च , गुरुवार को हिंदी के कवि रामनरेश त्रिपाठी जी का जन्मदिवस मनाया गया। इस अवसर पर प्रधानाचार्य अखिलेश तिवारी जी द्वारा पुष्प अर्पित किए गए और भैया / बहिन को उनकी जीवन शैली के बारे में बताया कि रामनरेश त्रिपाठी जी हिन्दी भाषा के 'पूर्व छायावाद युग' के कवि थे। कविता, कहानी, उपन्यास, जीवनी, संस्मरण, बाल साहित्य सभी पर उन्होंने कलम चलाई। अपने 72 वर्ष के जीवन काल में उन्होंने लगभग सौ पुस्तकें लिखीं। ग्राम गीतों का संकलन करने वाले वह हिंदी के प्रथम कवि थे जिसे 'कविता कौमुदी' के नाम से जाना जाता है। इस महत्वपूर्ण कार्य के लिए उन्होंने गांव-गांव जाकर, रात-रात भर घरों के पिछवाड़े बैठकर सोहर और विवाह गीतों को सुना और चुना। वह गांधी के जीवन और कार्यो से अत्यन्त प्रभावित थे। उनका कहना था कि मेरे साथ गांधी जी का प्रेम 'लरिकाई को प्रेम' है और मेरी पूरी मनोभूमिका को सत्याग्रह युग ने निर्मित किया है। 'बा और बापू' उनके द्वारा लिखा गया हिंदी का पहला एकांकी नाटक है। इस अवसर पर समस्त आचार्य बंधु एवं आचार्या बहनें उपस्थित रही ।