राष्ट्रीय शिक्षा नीति से श्रेष्ठ भारत का होगा निर्माण : अवनीश भटनागर

राष्ट्रीय शिक्षा नीति से श्रेष्ठ भारत का होगा निर्माण :  अवनीश भटनागर
राष्ट्रीय शिक्षा नीति से श्रेष्ठ भारत का होगा निर्माण :  अवनीश भटनागर

जयपुर। विद्या भारती सर्व सुलभ तरीके से राष्ट्र के हर क्षेत्र में में सभी के लिए शिक्षा पहुंचाने हेतु प्रतिबद्ध है, एवं शिक्षा के द्वारा भारत देश  सुंदर व आत्मनिर्भर बनाना हमारा ध्येय, जिसके लिए हम सभी को संकल्पित होना होगा तभी अपना विचार जन जन तक पहुंचाया जा सकता है। यह विषय अखिल भारतीय शिक्षण संस्थान ” विद्या भारती ” के राष्ट्रीय महामंत्री अवनीश भटनागर ने रविवार को जयपुर के सेवाधाम में विद्या भारती के प्रांत प्रचार प्रमुखों की दो दिवसीय अखिल भारतीय बैठक के समापन सत्र को संबोधित करते हुए कहीं।

श्री भटनागर ने कहां कि आज के परिदृश्य  में अपने विचार को जन जन तक पहुचाने में तकनीकी  मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका हो गई है। इसलिए हमें अपने प्रचार विभाग को आधुनिक तकनीक एवं ज्ञान से सुसज्जित करने की आवश्यकता है। वहीं राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर अपना विचार व्यक्त करते हुए राष्ट्रीय महामंत्री ने कहां कि भारतीय ज्ञान परम्परा संस्कृति तथा रीति रिवाजों के मंथन से निकली हमारी राष्ट्रीय शिक्षा नीति भारत को आत्मनिर्भर, सर्वाग सुंदर, सर्वगुण संपन्न समर्थ भारत का सृजन करेंगी।  समापन सत्र को संबोधित करते हुए प्रचार विभाग के अखिल भारतीय संयोजक सुधाकर रेड्डी ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति व स्वराज के अमृत महोत्सव पर प्रकाश डालते हुए आगामी वर्ष की कार्ययोजना में शामिल कर योजनाबद्ध तरीके से कार्य करने का आग्रह किया। वहीं राजस्थान क्षेत्र के संगठन मंत्री शिवप्रसाद ने कहा की भारत केंद्रित शिक्षा और शिक्षा के साथ चरित्र व संस्कार देना ही विद्या भारती का संकल्प है। समापन सत्र का संचालन उत्तर पूर्व क्षेत्र ( बिहार + झारखंड ) के प्रचार प्रमुख अखिलेश कुमार ने किया। इस अवसर पर क्षेत्रानुसार कार्ययोजना प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया। पूर्वी उत्तर प्रदेश क्षेत्र की कार्य योजना क्षेत्र प्रचार प्रमुख सौरभ मिश्र ने प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। इस मौके पर विद्या भारती प्रचार विभाग के अखिल भारतीय टोली के सदस्य रवि कुमार, राजस्थान क्षेत्र के अध्यक्ष भरत राम, राजस्थान के क्षेत्रीय सहसंगठन मंत्री गोविंद कुमार, क्षेत्रीय सहमंत्री प्रेमसिंह शेखावत, क्षेत्रीय प्रचार प्रमुख नवीन कुमार झा, उत्तर बिहार प्रांत प्रचार प्रमुख नवीन सिंह परमार, दक्षिण बिहार प्रांत प्रचार प्रमुख डॉ अंजनी कुमार सुमन, विद्या भारती पूर्वी उत्तर प्रदेश के क्षेत्रीय प्रचार प्रमुख श्री सौरभ मिश्रा, झारखंड प्रांत प्रचार प्रमुख जितेन्द्र तिवारी, मनोज कुमार एवं जितेंद्र कुमार पाण्डेय सहित देश के 31 प्रांतो से प्रचार विभाग के कार्यकर्ता उपस्थित थें।