जालौन: जिला एकीकरण समिति के तत्वाधान में एकता सप्ताह के अंतर्गत सांस्कृतिक कार्यक्रम का किया गया  आयोजन 

जालौन: जिला एकीकरण समिति के तत्वाधान में एकता सप्ताह के अंतर्गत सांस्कृतिक कार्यक्रम का किया गया  आयोजन 
जालौन: जिला एकीकरण समिति के तत्वाधान में एकता सप्ताह के अंतर्गत सांस्कृतिक कार्यक्रम का किया गया  आयोजन 
जालौन: जिला एकीकरण समिति के तत्वाधान में एकता सप्ताह के अंतर्गत सांस्कृतिक कार्यक्रम का किया गया  आयोजन 

जालौन। सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज झांसी रोड उरई के वंदना सभागार में जिला एकीकरण समिति के तत्वाधान में कौमी एकता सप्ताह के अंतर्गत सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सबसे पहले मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष डॉ घनश्याम अनुरागी एवं विद्यालय के प्रधानाचार्य रामगोपाल त्रिपाठी एवं सभासद लक्ष्मण दास बाबा नी व कोषाध्यक्ष संदीप गुप्ता के द्वारा मां सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया गया। इसके बाद विद्यालय के प्रधानाचार्य रामगोपाल त्रिपाठी ने कार्यक्रम में आए हुए आगंतुकों का परिचय कराया मुख्य अतिथि डॉ घनश्याम अनुरागी ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारा देश विभिन्न संप्रदायों से भरा हुआ है, हम अनेकता में एकता का भाव लेकर चलें और यदि कभी भी अपने देश के प्रति कोई बात आ जाए तो हम सब पूर्ण रुप से हमेशा तैयार रहें।

यही इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य है उन्होंने कहा कि सरस्वती विद्या मंदिर वह पाठशाला है जहां छात्रों को शिक्षा के साथ-साथ संस्कार भी दिए जाते हैं। यहां से निकले छात्र अपने देश के प्रति हमेशा समर्पित रहते हैं, यहां के शिक्षक छात्रों को पढ़ाई के साथ-साथ बेहतर जीवन जीने की कला भी सिखाते हैं। उन्होंने स्वयं अपना उदाहरण पेश करते हुए कहा कि जैसा कि मैं 1 ग्राम सभा से लेकर उच्च सदन लोकसभा तक पहुंचा उसी प्रकार आप भी अपना लक्ष्य अभी से निर्धारित कर लें तो निश्चित ही सफलता मिलेगी। स्वागत गीत एवं युगल गीत विद्यालय की छात्रा आकृति एवं अक्षरा और कशिश के द्वारा गाया गया। देशभक्ति से ओतप्रोत गीत देश रंगीला देश रंगीला देश मेरा रंगीला गीत पर तालियों की गड़गड़ाहट से पूरा हॉल गूंज उठा सभासद लक्ष्मण दास बाबा नीने डॉ. घनश्याम अनुरागी को स्मृति चित्र देकर सम्मानित किया। विद्यालय की छात्रा प्रधानमंत्री बहन आस्था सिंह ने आए हुए सभी महानुभाव का आभार व्यक्त किया। इस मौके पर डॉ. ब्रह्मानंद खरे, डॉक्टर ममता स्वर्णकार, बिडोली देवी निरंजन, संतोष गुप्ता, युद्धवीर पथरिया, मंजू रानी वर्मा, गरिमा पाठक एवं विद्यालय के सभी आचार्य व छात्र-छात्राएं उपस्थित रहें।