लखीमपुर: प्रांतीय शिशु वाटिका शिक्षिका प्रशिक्षण वर्ग का हुआ शुभारंभ

लखीमपुर: प्रांतीय शिशु वाटिका शिक्षिका प्रशिक्षण वर्ग का हुआ शुभारंभ
लखीमपुर: प्रांतीय शिशु वाटिका शिक्षिका प्रशिक्षण वर्ग का हुआ शुभारंभ

लखीमपुर। आज दिनांक 15-05-2022 को विद्या भारती विद्यालय सनातन धर्म सरस्वती शिशु वाटिका  खीरी में प्रांतीय शिशु वाटिका शिक्षिका प्रशिक्षण वर्ग कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इसमें मुख्य अतिथि विद्या भारती अखिल भारतीय राष्ट्रीय मंत्री माननीय शिव कुमार जी प्रथम वंदना सत्र पर उपस्थित रहें और अपने पाथेय में उन्होनें प्रारंभिक बाल्यावस्था देखभाल और शिक्षा में शिक्षक की भूमिका पर विशेष रूप से चर्चा की। इसमें हमारे छोटे भैया बहनों के अंदर 12 प्रकार के विकास होने चाहिए। इन 12 बिंदुओं पर विस्तृत जानकारी दी। सत्र समाप्ति के पश्चात पत्रकार वार्ता करके नई शिक्षा नीति में शिक्षा व्यवस्था तथा इसमें शिशु वाटिका का महत्व पर विशेष रूप से बताया। शिक्षा से जुड़े पत्रकारों के कई प्रश्नों के उत्तर देकर उन्हें संतुष्ट किया । तत्पश्चात शिशु वाटिका के भैया बहनों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का भी उद्घाटन एवं अवलोकन किया तथा नन्ने-मुन्ने भैया बहनों से बातचीत करके उन्हें प्रोत्साहित किया।

इस अवसर पर शिशु वाटिका के कोषाध्यक्ष श्रीमान अमित गुप्ता जी, विद्या भारती अवध प्रांत के प्रदेश निरीक्षक श्रीमान राजेंद्र बाबू जी, विद्या भारती जन शिक्षा समिति के सह-प्रदेश निरीक्षक श्रीमान मिथिलेश अवस्थी जी, सीतापुर संभाग के संभाग निरीक्षक श्रीमान सुरेश सिंह जी, जन शिक्षा समिति के लखीमपुर जिले के संभाग निरीक्षक श्रीमान कैलाश जी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज (UP BOARD) के प्रधानाचार्य/संकुल प्रमुख डॉक्टर योगेंद्र प्रताप सिंह, पंडित दीनदयाल उपाध्याय सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज (CBSE) के प्रधानाचार्य श्री शेषधर द्विवेदी जी, सनातन धर्म सरस्वती विद्या मंदिर बालिका इंटर कॉलेज की प्रधानाचार्या श्रीमती शिप्रा बाजपेई जी, सनातन धर्म सरस्वती शिशु मंदिर के प्रधानाचार्य श्री मुनेंद्र दत्त शुक्ल जी व प्रांतीय शिशु वाटिका प्रमुख श्रीमती हीरा सिंह जी सहित  आदि लोग उपस्थित रहें । इस अवसर पर उद्घोषक की भूमिका श्रीमती हीरा सिंह जी तथा मुख्य अतिथि का परिचय श्रीमान राजेंद्र बाबू जी के द्वारा किया गया। मुख्य अतिथियों का स्वागत विद्यालय के कोषाध्यक्ष श्री अमित गुप्ता जी के द्वारा श्रीफल एवं अंग वस्त्र देकर किया गया।