प्रयागराज: रानी रेवती देवी सरस्वती विद्या निकेतन ने अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस पर दी हार्दिक बधाइयां

प्रयागराज: रानी रेवती देवी सरस्वती विद्या निकेतन ने अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस पर दी हार्दिक बधाइयां

प्रयागराज l विद्या भारती से संबद्ध काशी प्रांत के रानी रेवती देवी सरस्वती विद्या निकेतन इंटर कॉलेज राजापुर प्रयागराज के संगीताचार्य एवं मीडिया प्रभारी मनोज गुप्ता की सूचनानुसार विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री बांके बिहारी पांडे जी ने "द लेडी विद द लैंप" के नाम से विख्यात मिस फ्लोरेंस नाइटिंगेल जी की जयंती पर उनके सम्मान में मनाए जाने वाले अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस की विद्यालय परिवार सहित समस्त देश एवं प्रदेश में  चिकित्सीय सेवा देने वाली नर्सों को हार्दिक बधाइयां एवं शुभकामनाएं प्रदान की l
         उन्होंने बताया कि अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस 12 मई को मनाया जाता है. यह दिवस मुख्य रूप से स्वास्थ्य सेवाओं में कार्यरत नर्सों को समाज में उनके परिश्रम और सेवा के लिए सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है. 12 मई का दिन की जयन्ती के रूप में भी मनाया जाता है.
आधुनिक नर्सिंग की संस्थापक मानी जाने वाली फेलोरिंस नाइटिंगेल के जन्मदिवस को इंटरनेशनल नर्स डे के रूप में मनाया जाता है. इस दिन को मनाने की शुरुआत 1974 से ही हुई थी. फ्लोरेंस नर्स के साथ-साथ एक समाज सुधारक भी थीं. उन्हें 'द लेडी विद द लैंप' कहा गया क्योंकि वो दिन-रात की परवाह किए बिना घायल सैनिकों की देखभाल में लगी रहती थीं. रात के अंधेरे में एक लालटेन की मदद से घूम-घूम कर मरीजों की सेवा करती थीं. उनके इसी त्याग और समर्पण को सम्मान देने इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ नर्सेस द्वारा उनके जन्मदिन को इंटरनेशनल नर्स डे के रूप में मनाया जाने लगा. 
      हार्दिक बधाइयां एवं शुभकामनाएं प्रदान करने वालों मे अनूप कुमार ,सचिन सिंह  परिहार ,चंद्रशेखर सिंह, शैलेश सिंह यादव ,अभिषेक शर्मा ,पायल जायसवाल , ओंकार पांडे, संतोष कुमार तिवारी प्रथम, शैलेंद्र कुमार यादव, विद्यासागर गुप्ता, प्रवीण कुमार तिवारी, कुंदन कुमार ,रामचंद्र मौर्य, अभिषेक कुमार शुक्ला ,नागेंद्र कुमार शुक्ला, अजीत प्रताप सिंह, शंकरलाल पटेल, ऋचा गोस्वामी, अर्चना राय, किरन सिंह, जितेंद्र कुमार तिवारी, शिवजी राय ,अनिल उपाध्याय, संतोष कुमार तिवारी द्वितीय, रविंद्र कुमार द्विवेदी ,श्रवण कुमार तिवारी एवं अनुराग कुशवाहा, श्याम सुंदर मिश्रा रुचि चंद्रा एवं कविता पांडे प्रमुख रहे l