प्रयागराज: रानी रेवती देवी सरस्वती विद्या निकेतन ने संघ के वरिष्ठ प्रचारक राधेश्याम जी के जन्मदिवस पर शत शत नमन किया

प्रयागराज: रानी रेवती देवी सरस्वती विद्या निकेतन ने संघ के वरिष्ठ प्रचारक राधेश्याम जी के जन्मदिवस पर शत शत नमन किया

प्रयागराज l विद्या भारती से संबद्ध काशी प्रांत के रानी रेवती देवी सरस्वती विद्या निकेतन इंटर कॉलेज, राजापुर, प्रयागराज के  संगीताचार्य मनोज गुप्ता की सूचनानुसार विद्यालय के प्रधानाचार्य श्रीमान बांके बिहारी पांडे जी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ  प्रचारक राधेश्याम जी  के जन्मदिवस पर विद्यालय परिवार सहित शत-शत नमन किया l


          उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक राधेश्याम जी का जन्म चार अगस्त, 1949 को उ.प्र. के हाथरस नगर में श्री राजबहादुर एवं श्रीमती द्रौपदी देवी के घर में हुआ था। उनके घर में पहले हलवाई का कारोबार था; पर फिर उनके पिताजी ने डेरी के व्यवसाय को अपना लिया। इस कारण तीन भाई और एक बहिन वाले इस परिवार के खानपान में सदा दूध, घी आदि की प्रचुरता रही।राधेश्याम जी 1961 में हाथरस में स्वयंसेवक बने। अपने एक कक्षामित्र सतीश के साथ वे दुर्ग सायं शाखा पर जाने लगे। धीरे-धीरे संघ के प्रति उनका अनुराग बढ़ता गया। 1962, 64, 65 और 71 में उन्होंने क्रमशः प्राथमिक शिक्षा वर्ग तथा फिर तीनों संघ शिक्षा वर्ग का प्रशिक्षण प्राप्त किया। कक्षा बारह तक की पढ़ाई उन्होंने हाथरस में ही पूर्ण की। इस दौरान वे सायं शाखा के मुख्यशिक्षक, मंडल कार्यवाह तथा फिर सायं कार्यवाह रहे।

इसके बाद तत्कालीन जिला प्रचारक ज्योति जी के आग्रह पर अलीगढ़ संघ कार्यालय पर रहकर उन्होंने बी.ए. किया। यहां वे खंड कार्यवाह और फिर सायं कार्यवाह रहे। 1972 में बी.ए. पूर्ण कर वे प्रचारक बने। दो वर्ष अलीगढ़ नगर के बाद वे बरेली नगर, जिला और फिर विभाग प्रचारक रहे। आपातकाल में वे बरेली में ही भूमिगत रहे। 1982 से 84 तक वे अलीगढ़ विभाग प्रचारक; 84 में विद्यार्थी परिषद में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के संगठन मंत्री और फिर 1989 में पूरे उ.प्र. के संगठन मंत्री बनाये गये। इस दौरान अनेक नये कार्यालय तथा बड़ी संख्या में पूर्णकालिक कार्यकर्ता बने। जिन महाविद्यालयों में कभी परिषद ने छात्रसंघ चुनाव नहीं जीता था, वहां भी भगवा लहराने लगा।


      शत शत नमन करने वालों मे अनूप कुमार,सचिन सिंह परिहार,चंद्रशेखर सिंह, शैलेश सिंह यादव, अभिषेक शर्मा, पायल जायसवाल, ओंकार पांडे, संतोष कुमार तिवारी प्रथम, शैलेंद्र कुमार यादव, विद्या सागर गुप्ता, प्रवीण कुमार तिवारी, कुंदन कुमार, रामचंद्र मौर्य, अभिषेक कुमार शुक्ला, नागेंद्र कुमार शुक्ला, अजीत प्रताप सिंह, शंकरलाल पटेल, ऋचा गोस्वामी, अर्चना राय, किरन सिंह, जितेंद्र कुमार तिवारी, शिवजी राय, अनिल उपाध्याय, संतोष कुमार तिवारी द्वितीय, रविंद्र कुमार द्विवेदी, श्रवण कुमार तिवारी एवं अनुराग कुशवाहा, श्याम सुंदर मिश्रा, रुचि चंद्रा एवं कविता पांडे प्रमुख रहे।