मिशन मोड’ पर होगा संघ कार्य का विस्तारः दत्तात्रेय होसबाले

मिशन मोड’ पर होगा संघ कार्य का विस्तारः दत्तात्रेय होसबाले
  • आगामी दो वर्षों में ‘टाईम बाऊंड’ चलेगा कार्य
  • राष्ट्रवादी विचारों का समाज खड़ा करने का प्रयास
     
    नागपुर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले ने कहा कि आगामी दो वर्षों में ग्रामीण और शहरी दोनों इलाकों में संघ कार्य के विस्तार पर बल दिया जाएगा। संघ की स्थापना को 2025 में 100 वर्ष पूरे हो रहे हैं। इस शताब्दी के पहले समाज के हर तबके तक पहुंच कर संघ राष्ट्रवादी समाज निर्माण करने का प्रयास करेगा।राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अहमदाबाद स्थित कर्णावती में तीन दिवसीय अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की बैठक का रविवार को समापन हुआ। इस अवसर पर आयोजित पत्रकार वार्ता में सरकार्यवाह होसबाले ने बताया कि संघ कार्य का भौगोलिक और अन्य आयामों के जरिए विस्तार किया जाता है। वहीं वर्ष में तीन बार इस विस्तार कार्य की समीक्षा होती है। बतौर सरकार्यवाह संघ अपने शताब्दी वर्ष से पूर्व देश के हर इलाके तक अपनी पहुंच बढ़ाना चाहता है। होसबाले ने बताया कि मौजूदा समय में देश के 50 फीसदी मंडलों (ग्रामीण इलाके) में संघ सक्रिय रूप से काम कर रहा है, लेकिन आगामी 2 वर्षों में अन्य इलाकों में भी संघ पहुंच जाएगा। इन क्षेत्रों में सामाजिक समरसता, शिक्षा, स्वास्थ्य, संस्कृति को बढ़ावा देना संघ का उद्देश्य है। सरकार्यवाह ने कहा कि ग्रामीण इलाकों के साथ-साथ शहरी बस्तियों में भी संघ कार्य का विस्तार किया जाएगा।बतौर होसबाले संघ ने अपने संगठन को मजबूती देने के लिए यह विस्तार योजना नहीं बनाई है, अपितु राष्ट्रवादी समाज का निर्माण करना संघ का लक्ष्य है। होसबाले ने कहा कि लोगों में संघ के प्रति स्वीकार्यता बढ़ी है। समाज की ओर से संघ पर विश्वास बढ़ रहा है। लोग सक्रिय रूप से संघ कार्य में शामिल होना चाहते हैं। कोरोना महामारी के काल में समाज के बहुत से लोगों ने संघ से संपर्क कर संघ के जरिए सेवाकार्य में योगदान दिया है। बतौर होसबाले संघ का समाज तक पहुंचना कार्यशैली है, वहीं समाज का संघ तक पहुंचना यह लोगों के मन में बढ़ रहे विश्वास, प्रेम और राष्ट्रीयता का प्रतीक है
    सरकार्यवाह ने बताया कि अभा प्रतिनिधि सभा की बैठक में प्रमुख मुद्दों पर चर्चा हुई तथा प्रस्ताव पारित हुए हैं। होसबले ने कहा कि विदेशों में भारत के खिलाफ दुष्प्रचार बहुत होता है। नतीजतन आने वाले समय में संघ सच्चे भारत की असली तस्वीर खड़ी करने के लिए प्रयास करेगा। स्वावलंबी भारत के निर्माण के लिए कार्य किए जाएंगे। कोरोनाकाल में शिक्षा व्यवस्था बहुत प्रभावित हुई है। संघ वंचित विद्यार्थियों के लिए शिक्षा में सहयोग करेगा। बतौर होसबाले समाज की शक्ति बढ़ाने के लिए अगले दो वर्षों तक संघ कार्य के विस्तार पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।