भरतनाट्यम की सुप्रसिद्ध नृत्यांगना थी टी. बाला सरस्वती जी :  संगीताचार्य मनोज गुप्ता

भरतनाट्यम की सुप्रसिद्ध नृत्यांगना थी टी. बाला सरस्वती जी :  संगीताचार्य मनोज गुप्ता

प्रयागराज l विद्या भारती से संबद्ध काशी प्रांत के रानी रेवती देवी सरस्वती विद्या निकेतन इंटर कॉलेज राजापुर प्रयागराज के संगीताचार्य एवं मीडिया प्रभारी मनोज गुप्ता की सूचनानुसार विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री बांके बिहारी पांडे जी ने भरतनाट्यम के सुप्रसिद्ध नृत्यांगना टी. बालासरस्वती जी के जन्मदिवस पर विद्यालय परिवार सहित शत-शत नमन किया l
          संगीताचार्य मनोज गुप्ता ने बताया कि तंजौर बालासरस्वती का जन्म 13 मई 1918 को मद्रास प्रेसिडेंसी ब्रिटिश भारत में तथा इनका निधन 9 फरवरी 1984 को हुआ था l यह एक भारतीय नर्तक है जो भरतनाट्यम, शास्त्रीय नृत्य के लिए जानी जाती है। १९५७ में उन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया गया और १९७७ में पद्म विभूषण भारत सरकार द्वारा दिए गए तीसरे और दूसरे उच्चतम नागरिक सम्मान से सम्मानीत किया। १९८१ में उन्हें भारतीय फाइन आर्ट्स सोसाइटी, चेन्नई के संगीता कलासिखमनी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
     शत शत नमन करने वालों मे अनूप कुमार ,सचिन सिंह  परिहार ,चंद्रशेखर सिंह, शैलेश सिंह यादव ,अभिषेक शर्मा ,पायल जायसवाल , ओंकार पांडे, संतोष कुमार तिवारी प्रथम, शैलेंद्र कुमार यादव, विद्यासागर गुप्ता, प्रवीण कुमार तिवारी, कुंदन कुमार ,रामचंद्र मौर्य, अभिषेक कुमार शुक्ला ,नागेंद्र कुमार शुक्ला, अजीत प्रताप सिंह, शंकरलाल पटेल, ऋचा गोस्वामी, अर्चना राय, किरन सिंह, जितेंद्र कुमार तिवारी, शिवजी राय ,अनिल उपाध्याय, संतोष कुमार तिवारी द्वितीय, रविंद्र कुमार द्विवेदी ,श्रवण कुमार तिवारी एवं अनुराग कुशवाहा, श्याम सुंदर मिश्रा रुचि चंद्रा एवं कविता पांडे प्रमुख रहे l